60+ आज का सुविचार 2020 [aaj ka suvichar] - Today [ Dainik ] suvichar in hindi

Today suvichar।आज का सुविचार।Dainik  suvichar

आज का सुविचार
आज का सुविचार


Aaj Ka Suvichar :- 2020 के इस साल के अंतिम महीने में हर दिन को और ज्यादा बेहतर बनाने के लिए लेकर आयें है कुछ बेहतरीन आज के सुविचार जिन्हे पढ़ कर आपको कुछ प्रेरणा मिलेगा और आगे भेज कर औरों को भी शायद आप प्रेरित करें। दैनिक और नैतिक दिनचर्या में काम आने वाले ये सुविचार जिनके लिए में आशा करूँगा की ये आपके दिन को मस्त और आपके व्हाट्सप्प स्टेटस में जान डाल देंगे। 

इन naitik vicharo को आपके सामने प्रस्तुत करने का मेरा एक ही मकसद है और वो है मोटिवेशन जो आज कल के नोजवानो में सिर्फ बचा खुचा सा रहता है जो धैर्य की कमी के कारण ख़त्म हो जाता है। परन्तु ये dainik suvichar विचार आपके लिए पॉवरफुल साबित होंगे। 

तो चलिए शब्दों की डोर को यहीं काटते हुए आपको बताते है बेहतरीन आज का सुविचार जो कुछ से प्रकार है।  
 

आज का सुविचार [AAJ KA SUVICHAR] - Dainik [naitik vichar] suvichar in hindi


आज का सुविचार सुप्रभात [suprabhat aaj ka suvichar]


मानो या ना मानो परन्तु आज जो है वो ही आपके लिए एक सबसे बड़ा मौका है। 

सिखने वाले तो जिंदगी की हर उस छोटी गलती से सिख ले लेते है जो उनसे अनजाने में हुई है। 

मुमकिन और नामुमकिन के बीच सिर्फ ढृढ़ निश्चय का फासला होता है। - टॉमी लासोड्डा

सफलता को गलत तरिके से प्राप्त करने की सोच ही आपकी प्रथम असफलता है। 

धर्म पर बात करना आसान है परन्तु उसका अभ्यास करना उससे भी ज्यादा मुश्किल। -रामकृष्ण परमहंस

आज कल तो वो इंसान भी सफलता के सपने देखते है। 

जीवन का हर एक हिस्सा हमें कुछ ना कुछ नया सीखता है इसलिए हम कह सकते है की जीवन का हर एक हिस्सा सफलता दिलाने वाला एक बड़ा हिस्सा है। 

अपने काम के प्रति लापरवाह इंसान सफलता की राह में 2 कदम भी नहीं चल सकता। 

अगर आप अपने काम के महत्व को पहचानेगें उसका आदर करेंगे तो हो सकता है वह भी आपके साथ ऐसा ही करेगा। -एल डी टर्नर

कभी भी घृणा को मन के अंदर जगह मत बनाने दो क्यूंकि घृणा का मोल प्रेम के सामने सिर्फ उतना है जितना की सोने के सामने लोहे का है। 

 

aaj ke suvichar in hindi for students [छात्रों के लिए ]

आज के विद्यार्थियों से मेरी गुजारिश है की सफलता के लिए मेहनत इतनी हो की पिता फक्र से कहें "थोड़ा वकत तो लेगा मगर कर लेगा "

किसी काम को करने से पहले का डर आपकी जीती हुई  बाजी को हरा सकता है। 

श्रेष्ठ वही है जो बल से ज्यादा अक्ल से किये गये कार्य पर विश्वास रखता है। 

 खुद की नापसंद चीजों को , दूसरों पर मत थोपिए। - अज्ञात 

अपनी ख़ुशी को छोड़ दूसरों को खुश रखने वाला इंसान ही एक महान इंसान है। 

 हर सफलता की बुनियाद कर्म पर ही टिकी है। -पाव्लो पिकासो

रुकावट मुश्किलें नहीं अपने अंदर छिपा डर पैदा करता है। 

प्रेरणा सिर्फ आपको राह दिखती है बाकि उस राह पर चलना आपका काम है। 

दूसरों के पास अपनी समस्या का हल ढूढ़ना मूर्खता है क्यूंकि हर समस्या का हल हम खुद है। 

समझदार वहीं है जो दूसरों की गलतियों से सिख लेकर खुद को सुधारता है। 

अपनी पहचान अच्छी जुबान और अच्छे कर्मो से बनाए जाती है। बाकि बातें तो दीवारों पर भी अच्छी ही लिखी होती है।  - अज्ञात 

नैतिक सुविचार [dainik Suvichar in hindi]


अगर आपके दिमाग में कोई विचार है तो उस तुरंत काम करना शुरू कर दीजिये क्युकी आपके द्वारा की गयी  देरी आपको असफल बना सकती है। 

जब किसी कार्य में रुचि और हुनर का संगम हो तो उत्कृष्टता स्वाभाविक है। -जॉन रस्किन

माना की किसी काम को करने से पहले विचार करना जरुरी है परन्तु एक समय सीमा तक ही वो विचार रहता है उसके बाद वो वक्त की बर्बादी का जरिया बन जाता है। 

सफलता के सपनो को देखने की बजाय उन्हें जागकर सफल बना सक्सेस प्राप्ति का एक उचित उपाय है।  - अज्ञात 
"तो विचार करो परन्तु इतना नहीं की वो वक्त की बर्बादी का कारण बन जाये "

मौन और आत्मनियंत्रण ही अहिंसा है। -भगवान महावीर

माना  की आज परिस्थितियां अनुकूल है परन्तु अपने कल को अगर बेहतर बनाना है तो आज आपको उन परिस्थियों का सामना एक बड़े और दृढ़ विश्वास के साथ करना होगा। 

सुन अगर सफलता यूँही मिलती तो मेहनत और परिश्र्म जैसे शब्द ही पैदा ना होते। 

सदा जवान रहने के लिए चेहरे की सुंदरता नहीं, मन की उड़ान जरूरी है। -मार्टी बुचेला

वो व्यक्ति मर के भी नहीं मरता जो अपने मरने के बाद अपने विचार छोड़ जाता है। 

सुख अगर बीत गया तो गम ना करें बल्कि खुश हों कि सुख मिला तो सही।  - डॉ. स्युरस

 

शुभ सुविचार - letest aaj ke suvichar 2020


अगर कथनी और करनी में फर्क पहचान लिए तो जिंदगी का हर दाव आसान लगने लगेगा। 

अध्यापक आपके मार्गदर्शन का काम करते हैं, चलना तो आपको खुद ही पड़ेगा। -चीनी कहावत

 संसार एक कड़वा वृक्ष है जिसके दो ही फल मीठे हैं मधुर वाणी और सज्जनों की संगति। -चाणक्य  

हर व्यक्ति को शांति अपने अंदर ही खोजनी पड़ती है। यह शांति बाहरी परिस्थितियों पर निर्भर नहीं होनी चाहिए। -महात्मा गांधी

वैसे तो ईमानदार इंसान में कभी बेईमानी का लाल रंग नहीं दौड़ता परन्तु अक्सर उसे तो इंसानी जरूरते बईमान बना देती है। 

अपनी हार के आगे झुकना ही आपकी एक और हार  है 

अपनी ईमानदारी को कभी किसी के सामने झुकने ना दे क्यूंकि  देखना एक दिन सब को आपके सामने झुका देगी। 

कल में जीने वाले इंसान कभी आज की परवाह नहीं करते परन्तु आज में जो जीता है उसे कल की परवाह नहीं करनी पड़ती। 

पिता का  गुस्सा उस गोली के समान है जो खाने में तो कड़वी है परन्तु इलाज बड़ी से बड़ी बिमारी का कर देती है 

सब्र वो पेड़ है जो हमेशा दूसरों को मीठे फल ही देता है। 


आज का सुविचार देखिये [today suvichar in hindi]

गलतियां भी आपकी सफलता की सीढ़ियों का एक हिस्सा है तो गलतियों से डर कर नहीं उनसे सीख कर आगे भड़े। 

तुम खुद ही अपने दुश्मन हो क्यूंकि और से उम्मीद लगा कर आगे बढ़ने की जो सोचते हो। 

घमंडी लोग हमेशा लालची और अहंकारी होते है। - अज्ञात 

अगर मुश्किलों से डरोगे, तो लड़ोगे किससे - अज्ञात 

गरीबो से मुनाफा कमाने वाले , धरती पर ही नर्क भोगते है। 

बनाना है तो अपनी कल्पनाओं को मार्गदर्श्क बनाओ बीते हुए कल को नहीं - स्टीफन कोवि

प्रश्न पूछने वाले सिर्फ चंद मिनटों  के लिए मूर्ख रहते  है, परन्तु जो प्रश्न ही नहीं पूछते वे उम्र भर मूर्ख ही रहते है। -चीनी कहावत

हर स्वीकारी गयी गलती आपको अपने आप में एक महान इंसान बनती है 

व्यक्ति का जन्म उसे कभी महान नहीं बनाता बल्कि उसके कर्म उसे महान बनाते है। - अज्ञात 

मुश्किलें हम सब के सामने आती है, परन्तु बात ये है की आप उन्हे देख बिखरते है या उनसे सीख लेकर निखरते है।  - अज्ञात 

 

जीवन से जुड़े सुविचार - suvichar for life

बुद्धि की क्षमता की असल पहचान आपके कार्यों से होती है। -नेपोलियन

मित्रता आनंद को दुगुना और ढुख को आधा कर देती है। -मिस्र की कहावत

कभी भी अवसरों की दस्तख का इंतजार ना करें क्युकी उन्हें पहले न्योता देना पड़ता है। 

हंसी उड़ने वाले अक्सर भूल जाया करते है की उन्होंने अब तक किया ही क्या है। 

मूर्खों से बहस कर कभी बुद्धि की परख नहीं की जाती। 

नज़रअंदाजगी भी शांति का एक जरिया है। 

सफलता की रेल तब तक नहीं चलेगी जब तक उसमे उसमे मेहनत और साहस जैसा धधकता कोयला ना हो। 

बिगड़े हुए भविष्य का कारण बीते कल की सोच हो सकती है।  -अज्ञात 


शायद आप ये भी पढ़ेंगे - 

last line [ aaj ka suvichar] -

अगर आपको ये दैनिक या नैतिक सुविचार पसंद आएं है तो अपनी बहुमूल्य टिप्पणी कमेंट बॉक्स लिख डालिये। 
आज के सुविचारों की तरह और बेहतरीन विचारो को पढ़ना पसंद करते है तो हमें ट्वीटर ,फेसबुक ,इंस्टग्राम पर जरूर फॉलो करें। 


टिप्पणी पोस्ट करें

टिप्पणियां