Best 20+ Dr. Br Ambedkar Quotes - डॉ बी आर अंबेडकर के अनमोल विचार

Best 20+ Dr. Br Ambedkar Quotes / डॉ बी आर अंबेडकर के अनमोल विचार 

हम आपको संविधान के निर्माता श्री डॉ बी आर अंबेडकर (Dr. Br Ambedkar) के कुछ महत्वपूर्ण और मोटिवेशन से भरे quotes बताना चाहता हूँ और यह मेरे विचार से Best Dr. Br Ambedkar  Quotes हैपरंतु इसकी शुरुआत सरल तरीके से ना कर हम आपको शुरुआत में उनके जीवन के बारे में महत्वपूर्ण बातें या यूं कहें जी कि उनकी जीवनी के विषय में सबसे पहले बताना पसंद करेंगे। तो आइये शुरुआत करते और देखते  उनका जीवन और उनके कोट्स आपको किस प्रकार प्रभावित करते है। 


Dr. Br Ambedkar Quotes IN HINDI
Dr. Br Ambedkar 


Dr. Br Ambedkar Biography - डॉ बी.आर. अंबेडकर की जीवनी

भारत के महू नगर सैन्य छावनी में 14 अप्रैल सन 1891 डॉ. बी.आर आम्बेडकर का जन्म हुआ। वे मराठी मूूल के परिवार से थे उनका परिवार कबीर पंथो से बहुत प्रभावित था वे इन पंथो को मानते थे। उन्हें बचपन से ही जाती रूपी भेद-भाव का सामना करना पड़ा क्युकी वे हिंदू महार जाति से संबंध रखते थे, जो उस वक्त अछूत मानी जाती थी। ओर इस कारण उन्हें कई और अन्य परेशानियों का सामना करना पड़ा जो कुछ इस प्रकार की थी। उन्हें अपने आसपास के लोगो से लेकर विधालय के विद्यार्थियों और अध्यापको तक सब के दुवरा उनके साथ जाती रूपी भेद भाव किया गया। उन्हें अपने साथ ना बैठने देना ,घर में न आने देना ,अपने आप से बात न करने देना ,किसी चीज को हाथ न लगाने देना ,आदी सब जाती रूप भेद-भावो का सामना उन्हे बचपन में करना पड़ा था। 

Dr Br ambedkar family

डॉ बी.आर आम्बेडकर के दादा का नाम मालोजी सकपाल था, तथा पिता का नाम रामजी सकपाल और इनकी माता जी का नाम भीमाबाई था ।  उनके पिता रामजी सकपाल, भारतीय सेना में सुबेदार के पद पर कार्यरत थे।
उनकी पत्नी नाम रमाबाई आम्बेडकर था। इनका विवाह अप्रैल 1906 में हुआ जब डॉ. आंबेडकर की उम्र लगभग 15 वर्ष थी और रमाबाई  की उम्र नौ साल थी। उस समय के प्रचलन के अनुसार उन्होंने बल विवाह किया था। उनके विवाह  पश्चात उन्हें 5 बच्चे हुए जिनमे से 4 बच्चो की मृत्यु बचपन में ही हो गयी थी। और पंचवा बच्चा था जिसका नाम यशवंत आम्बेडकर। परन्तु उनकी पत्नी रमाबाई की एक बीमारी के बाद 1935 में मृत्यु हो गई। इसके बाद आंबेडकर को भी एक बीमारी ने जकड़ लिया जिसका ईलाज करवाने के लिए उनकी मुलाकात डॉक्टर शारदा कबीर से हुई। फिर आंबेडकर जी ने उन्ही के साथ 15 अप्रैल 1948 को नई दिल्ली में अपने घर पर विवाह 
कर लिया था। शादी के पश्चात डॉक्टर शारदा कबीर ने अपना नाम बदलकर सविता आम्बेडकर रख लिया। तो इस प्रकार उनकी दूसरी शादी सविता आम्बेडकर के साथ हुई। 

dr br ambedkar education

डॉ बी आर अम्बेडकर के एजुकेशन(EDUCATION) की शुरुआत सातारा शहर में राजवाड़ा चौक पर स्थित गवर्न्मेण्ट हाईस्कूल में 7 नवंबर 1900 को शुरू हुई। तभी से इसदिन 7 नवंबर को महाराष्ट्र में विद्यार्थी दिवस रूप में मनाया जाने लगा। फिर उन्होंने अपनी हाई स्कूल 1897 में, मुंबई जाकर एल्फिंस्टोन रोड पर स्थित गवर्न्मेंट हाईस्कूल में आगे कि शिक्षा प्राप्त की। हाईस्कूल करने बाद लगभग उन्होंने सन 1908 बॉम्बे में एल्फिंस्टन कॉलेज में प्रवेश लिया और वहां से ही बी.ए डिग्री प्राप्त की। सन 1913 में जब वे 22 वर्ष के थे तब उन्होंने अमेरिका जाकर कोलंबिया विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर शिक्षा प्राप्त की। फिर सन 1916 में लंदन चले गये वहां जाकर उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में प्रवेश लिया।परन्तु जून 1917 उन्होंने बड़ौदा राज्य से उनकी छात्रवृत्ति समाप्त होने से वहां से अध्ययन को छोड़ दिया और फिर वापस भारत लौट आये। 

Dr. B. R. Ambedkar quotes in hindi / डॉ. बी आर अम्बेडकर उद्धरण हिंदी में


# “पानी की बूद जब सागर में मिलती है तो अपनी पहचान खो देती है। इसके विपरीत व्यक्ति समाज में रहता है पर अपनी पहचान नहीं  खोता। इंसान  का  जीवन  स्वतंत्र  है।  वो सिर्फ समाज के विकास के लिए  पैदा  नहीं हुआ  बल्कि  स्वयं  के  विकास  के  लिए  भी पैदा हुआ है।” - डॉ. भीम राव अम्बेडकर
dr br ambedkar QUOTES image
डॉ. भीम राव अम्बेडकर

# "पति- पत्नी के बीच का सम्बन्ध घनिष्ट मित्रों के सम्बन्ध के सामान होना चाहिए ।"   - B. R. Ambedkar

# "जीवन  लम्बा  होने  की  बजाये  महान  होना  चाहिए। "  -डॉ. भीम राव अम्बेडकर 

# "हिंदू धर्म में, विवेक, कारण, और स्वतंत्र सोच के विकास के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।" - B. R. Ambedkar

 #"बुद्धि का विकास मानव के अस्तित्व का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए।"  -डॉ. भीम राव अम्बेडकर

# "इतिहास गवाह हैं कि जहाँ नैतिकता और अर्थशाश्त्र के बीच संघर्ष होता है वहां जीत हमेशा अर्थशाश्त्र की होती है। निहित स्वार्थों को तब तक स्वेच्छा से नहीं छोड़ा गया है जब तक कि मजबूर करने के लिए पर्याप्त बल ना लगाया गया हो।" - B. R. Ambedkar

# "किसी भी कौम का विकास उस कौम की महिलाओं के विकास से मापा जाता हैं |" -डॉ. भीम राव अम्बेडकर

# "आज भारतीय दो अलग-अलग विचारधाराओं द्वारा शासित हो रहे हैं। उनके राजनीतिक आदर्श जो संविधान के प्रस्तावना में इंगित हैं वो स्वतंत्रता, समानता, और भाई -चारे को स्थापित करते हैं और उनके धर्म में समाहित सामाजिक आदर्श इससे इनकार करते हैं।" - B. R. Ambedkar

#"एक सफल क्रांति के लिए सिर्फ असंतोष का होना ही काफी नहीं है, बल्कि इसके लिए न्याय, राजनीतिक और सामाजिक अधिकारों में गहरी आस्था का होना भी बहुत आवश्यक है।"  -डॉ. भीम राव अम्बेडकर

#"मनुष्य एवम उसके धर्म को समाज के द्वारा  नैतिकता  के  आधार  पर चयन करना चाहिये |अगर  धर्म  को  ही मनुष्य के लिए सब कुछ मान लिया जायेगा तो किन्ही और मानको का कोई मूल्य नहीं रह जायेगा |" - B. R. Ambedkar

# "एक  महान व्यक्ति एक  प्रख्यात व्यक्ति से एक ही बिंदु पर भिन्न हैं कि महान व्यक्ति समाज का सेवक बनने के लिए तत्पर रहता हैं।"  -डॉ. भीम राव अम्बेडकर

# "जो व्यक्ति अपनी मौत को हमेशा याद रखता है वह सदा अच्छे कार्य में लगा रहता है।" - B. R. Ambedkar
"मैं ऐसे धर्म को मानता हूँ जो स्वतंत्रता, समानता, और भाई-चारा सीखाये।"  -डॉ. भीम राव अम्बेडकर

# "जिस तरह मनुष्य नश्वर है ठीक उसी तरह विचार भी नश्वर हैं। जिस तरह पौधे को पानी की जरूरत पड़ती है उसी तरह एक विचार को प्रचार-प्रसार की जरुरत होती है वरना दोनों मुरझा कर मर जाते है।" - B. R. Ambedkar

# "हर व्यक्ति जो मिल के सिद्धांत कि एक देश दूसरे देश पर शासन नहीं कर सकता को दोहराता है उसे ये भी स्वीकार करना चाहिए कि एक वर्ग दूसरे वर्ग पर शासन नहीं कर सकता।"  -डॉ. भीम राव अम्बेडकर

dr babasaheb ambedkar thoughts on education

# "हमारे  पास  यह  स्वतंत्रता  किस  लिए  है ? हमारे  पास  ये  स्वत्नत्रता  इसलिए  है  ताकि  हम  अपने  सामाजिक  व्यवस्था , जो  असमानता , भेद-भाव  और  अन्य   चीजों  से  भरी  है , जो  हमारे  मौलिक  अधिकारों  से  टकराव  में  है  को  सुधार  सकें।"  -B. R. Ambedkar

# "यदि हम एक संयुक्त एकीकृत आधुनिक भारत चाहते हैं, तो सभी धर्मों के धर्मग्रंथों की संप्रभुता का अंत होना चाहिए।" - B. R. Ambedkar

#"राजनीतिक अत्याचार सामाजिक अत्याचार की तुलना में कुछ भी नहीं है और एक सुधारक जो समाज को खारिज कर देता है वो सरकार को खारिज कर देने वाले राजनीतिज्ञ से ज्यादा साहसी हैं।"  -डॉ. भीम राव अम्बेडकर

 # “क़ानून  और  व्यवस्था, राजनीतिक  शरीर  की  दवा  है।  जब  राजनीतिक  शरीर  बीमार  पड़े  तो  दवा  ज़रूर  दी  जानी  चाहिए।”  - B. R. Ambedkar

# "हिंदू धर्म में, विवेक, कारण, और स्वतंत्र सोच के विकास के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।" - B. R. Ambedkar

"एक महान व्यक्ति एक प्रतिष्ठित व्यक्ति से अलग है क्योंकि वह समाज का सेवक बनने के लिए तैयार रहता है।"  -डॉ. भीम राव अम्बेडकर

dr br ambedkar quotes image
डॉ. भीम राव अम्बेडकर

"लोग और उनके धर्म, सामाजिक नैतिकता के आधार पर, सामाजिक मानकों द्वारा परखे जाने चाहिए। अगर धर्म को लोगों के भले के लिये आवश्यक वस्तु मान लिया जायेगा तो और किसी मानक का मतलब नहीं होगा।" - B. R. Ambedkar


Dr Br Ambedkar Facts In Hindi /डॉ. बी.आर अंबेडकर से जुड़े तथ्य

  • डॉ. बी.आर अम्बेडकर अपने माता-पिता के 14 वीं और आखरी बच्चे थे  ।
  • असल में डॉ. बी.आर अम्बेडकर नाम अंबावडेकर था। परन्तु  उनके अध्यापक , श्री महादेव अम्बेडकर जी ने उनके स्कूल के दस्तावेजों में नाम बदलकर अम्बेडकर उपनाम दिया। 
  •  वे पहले भारतीय थे जिन्होंने विदेश जाकर अर्थशास्त्र में पीएचडी की डिग्री प्राप्त की थी। 
  • ये ऐसे एकमात्र भारतीय हैं जिनकी मूर्ति(प्रतिमा) लंदन संग्रहालय में कार्ल मार्क्स से साथ है। 
  • इंडिया के राष्ट्रीय ध्वज में  "अशोक चक्र" को जगह देने का श्रेय भी डॉ। बाबासाहेब अम्बेडकर को जाता है। 
  • डॉ. बी.आर अम्बेडकर एक की निजी लाइब्रेरी जिसका नाम  "राजगीर" था और उसमे 50,000 से अधिक पुस्तकें थीं और यह दुनिया की सबसे बड़ी निजी लाइब्रेरी थी। 
  • अमेरिका के कोलंबिया विश्वविद्यालय ने 2004 में दुनिया के शीर्ष 100 विद्वानों की सूची का निर्माण किया और उस सूची में सबसे पहला नाम डॉ. भीमराव अंबेडकर का था।
  •  डॉ। बाबासाहेब अम्बेडकर 64 विषयों में ज्ञाता थे। वे  हिंदी, पाली, संस्कृत, अंग्रेजी, फ्रेंच, जर्मन, मराठी, फारसी और गुजराती जैसी 9 और अन्य भाषाओं का ज्ञान रखते थे । 
  • उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में जाकर 8 साल की पढ़ाई मात्र 2 साल 3 महीने  पढ़ लिया था क्यूंकि वे रोजाना 21 घंटे पढ़ाई किया करते थे ।
  • डॉ. बी.आर अम्बेडकर की पहली प्रतिमा वर्ष 1950 में बनाई गई थी जब वह जीवित थे और यह प्रतिमा कोल्हापुर शहर में स्थापित करी गई थी। 
  • दुनिया में हर जगह, बुद्ध की बंद आंखों वाली प्रतिमाएं और पेंटिंग्स दिखाई देती हैं, लेकिन बाबासाहेब, जो एक अच्छे चित्रकार भी थे, ने बुद्ध की पहली पेंटिंग बनाई जिसमें बुद्ध की आंखें खोली गईं।
  • डॉ. बी आर अम्बेडकर Economics में Nobel Prize विजेता अर्थशास्त्री श्री प्रो. अमर्त्य सेन को अर्थशाश्त्र में अपना पिता मानते हैं।


Last Line For Dr. Br Ambedkar Quotes

 मैं आपसे इन अंतिम पंक्तियों मैं यह पूछना चाहता हूं कि Dr. Br Ambedkar Quotes ने अगर आपको प्रभावित किया है अर्थात आप को मोटिवेट किया है तो मुझे कॉमेंट कर अपने मन की बात बताएं साथ ही नई और कोट्स पढ़ने के लिए हमारे फेसबुक,इंस्टाग्राम,टि्वटर पेज को फॉलो और लाइक करें 
धन्यवाद

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां